10/09/2018 - वाराणसी - विवेक शर्मा, पत्रकार

गंगा का जलस्तर चेतवानी स्तर से 1.42 मीटर निचे

ganga

बनारस में गंगा के लगातार बढ़ रहे जलस्तर और किनारों के कटान को देखते हुए तटवर्ती इलाकों में रहने वाले लोगों की धड़कनें बढ़ गई हैं। पिछले 24 घंटों में गंगा का जलस्तर 27 सेंटीमीटर बढ़ा है। कमोबेश ऐसा ही हाल वरुणा का भी है। वरुणा किनारे के नक्खी घाट, विजईपुर इलाके में पानी घुसने लगा है।

चेतावनी स्तर से कुछ निचे गंगा

गंगा का जलस्तर इस वक्त चेतावनी स्तर से 1.42 मीटर नीचे है। मगर, प्रशासन ने अलर्ट जारी कर एनडीआरफ को रात में गंगा के जलस्तर पर नजर रखने का निर्देश दिया है। रात में बढ़ाव जारी रहने पर सुबह तटवर्ती इलाकों को खाली कराने को भी कहा गया है। पहाड़ों पर हुई बारिश के चलते गंगा में लगातार पानी पहुंच रहा है। यही कारण है कि रविवार को गंगा के जलस्तर में लगातार बढ़ोतरी रही। केंद्रीय जल आयोग के अनुसार गंगा का जल स्तर रविवार को रात 68.84 मीटर पर पहुंच गया, जबकि शनिवार की रात यह 68.57 मीटर था। रविवार की सुबह आठ बजे जलस्तर 68.68 था।

2 सेंटीमीटर प्रति घंटे बढ़ रही गंगा

अधिकारियों का मानना है कि गंगा खतरे की ओर दो सेंटीमीटर प्रति घंटे के हिसाब से बढ़ रही हैं। जिलाधिकारी सुरेंद्र सिंह ने बताया कि गंगा के जलस्तर पर एडीएम वित्त एवं राजस्व को नजर रखने को कहा गया है। रात में एनडीआरएफ के साथ प्रशासन की टीम तटवर्ती इलाकों में रहेगी। आवश्यकता होने पर तटवर्ती इलाकों को खाली कराया जाएगा।

निर्माणधीन पुल बहा

भोजूबीर-सिंधोरा मार्ग के गरथमा बाजार स्थित नाद नदी पर निर्माणाधीन पुल के समीप बने एप्रोच मार्ग पानी के बहाव के चलते रविवार को बह गया। इससे आवागमन पूरी तरफ ठप हो गया है। एक दर्जन से ज्यादा गांव प्रभावित हैं। लोगों को 10 से 15 किलोमीटर अतिरिक्त दूरी तय करना पड़ रहा है।

Comments
Made with ♥ in Varanasi | Hosted on BlueHost
Copyright © 2018 Five Alphabets