09/10/2018 - वाराणसी - आरती सिंह

गुजरात से दहशत लिए बनारस स्टेशन पर पहुंचे लोग

gujrat violence

वाराणसी: 14 माह की बच्ची से दुराचार के बाद गुजरात के साबरकांठा जिले में उत्तर भारतीयों विशेषकर यूपी सहित बिहार के लोगों पर सामूहिक हमला किया जा रहा है। बनारस के कैंट रेलवे स्टेशन पर सोमवार को साबरमती एक्सप्रेस जो की अहमदाबाद से आई उतरे पूर्वांचल के लोगों ने यह बात कही।

कंपनी के मालिक नहीं ले रहे सुरक्षा की गारंटी

उन सभी लोगों द्वारा कहा गया कि स्थिति बहुत ज्यादा खराब हो रही थी अगर ऐसा नहीं होता तो वह दिवाली पर घर लौटते और त्यौहार मना कर हंसी – खुशी लौट जाते। वहीं ज्ञानपुर के प्रिंस जो कि ट्रेन से आए थे उन्होंने बताया कि कंपनियों में 100 से डेढ़ सौ की तादाद में लोग जमा होकर आ रहे थे और उनको भगा रहे थे। इस दौरान यूपी सहित बिहार के लोगों को भी मारा – पीटा जा रहा था। वहीं लोगों के सुरक्षा की गारंटी ना ही कंपनी के मालिक ले रहे हैं और ना ही ठेका लेने वाले।

हमला करने वालों को गुजरात पुलिस ने किया गिरफ्तार

गोपाल जो की सासाराम में मजदूरी करते है ने बताया कि सैकड़ों मजदूर जो की पूर्वांचल और बिहार से है वह खचाखच भरी ट्रेनों से अपनी जान बचाने के लिए जैसे – तैसे आ रहे है। हालत बहुत ज्यादा खराब है वही मनोरथ जो की बलिया से है ने बताया कि कई लोगों को गुजरात पुलिस ने हमला करने वालों को गिरफ्तार कर रही है, पर जैसे ही एक पक्ष जाता तो दूसरा आ जाता था।

यूपी व बिहार के लोगों दी जा रही है धमकी

हम आपको बताते चले कि गुजरात छोड़ने की धमकी यूपी और बिहार के लोगों से गाली-गलौज कर दी जा रही थी। रामबिलास जो कि मिर्जापुर से ने बताया कि वह गांधीनगर में ढाई वर्षो से काम कर रहा था पर सामूहिक रूप से इस तरह से लड़ाई – झगड़ा कभी नहीं देखा था। कांग्रेस के पूर्व विधायक अजय राय ने द्वारा गुजरात में उत्तर भारतीय परिवारों पर हमलों एवं इससे बने भय के वातावरण को देखते हुए इस पर चिंता जाहिर की गई है। साथ ही उन्होंने कहा कि उत्तर भारतीयों के पलायन की खबरें बेशक ही दुखद और शर्मनाक हैं।

समस्त देश के लिए है चिंताजनक विषय

गांधी की परंपरा के खिलाफ गुजरात में उठ रहे इस विरोध को देखते हुए समस्त देश के लिए यह एक बहुत बड़ी चिंता का विषय है। यह बात शासन और प्रशासन व्यवस्था के लिए धब्बा जैसा है। पूर्व विधायक ने कहा कि काशी से सांसद उत्तर भारत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चुना है। आश्चर्य है कि संकीर्ण क्षेत्रवादी मानसिकता का प्रदर्शन गुजरात में किया जा रहा है। यदि अभी व्यापत घटनाओं पर रोक नहीं लगाई गई तो कांग्रेस द्वारा सत्याग्रह किया जाएगा।

Comments
Made with ♥ in Varanasi | Hosted on BlueHost
Copyright © 2018 Five Alphabets