09/10/2018 - वाराणसी - आरती सिंह

वाराणसी: ‘गुजराती नरेंद्र मोदी बनारस छोड़ो’, लगाए गए पोस्टर

posters-in-varanasi

वाराणसी: गुजरात में उत्तर भारतीयों विशेषकर यूपी एवं बिहार के लोगों पर अब सामूहिक हमले का विरोध प्रारम्भ हो चुका है। इन सबका खास असर मंगलवार को पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र में भी नजर आने लगा है। विरोध में कई स्थानों पर पोस्टर भी चिपका दिए गए है, जिसपर गुजराती नरेंद्र मोदी बनारस छोड़ो लिखा हुआ है। इन सबके साथ ही साथ एक सप्ताह के अंदर बनारस में रह रहे गुजरातियों व महाराष्ट्र के लोगों को बनारस छोड़ने की चेतावनी दे डाली गई है।

बिहार एकता मंच की तरफ से लगाए गए पोस्टर

यूपी सहित बिहार एकता मंच की ओर से ऐसे पोस्टर लगा दिए गए हैं। हम आपको बता दें कि एक बच्ची से दुष्कर्म के बाद से ही पिछले दिनों गुजरात में उत्तर भारतीय (बिहार, उत्तर प्रदेश और मध्यप्रदेश) समुदाय के लोगों पर हमले की घटनाएं घटित हुईं थी। गुजरात छोडने की धमकियां इन लोगों को दी जा रही हैं। बड़ी संख्या में लोगों ने भय के चलते वहां से पलायन भी किया गया है। यूपी – बिहार एकता मंच के सदस्य जो कि वाराणसी के सिगरा क्षेत्र में पोस्टर लगा रहे थे ने कहा कि उत्तर भारतीयों पर गुजरात में किये जा रहे हमले गलत है। गुजरात और महाराष्ट्र में जो भी उत्तर भारतीय काम की तलाश में वहां जा रहे हैं उनको वहां से पलायन के लिए मजबूर किया जा रहा है। इस मामले के संबंध में आज एक चेतावनी पत्र हमने जारी किया है।

उत्तर भारतीयों के साथ हो रही है हिंसा

उनके द्वारा कहा गया कि हमने मांग रखी है कि प्रधानमंत्री एवं वाराणसी के सांसद नरेंद्र मोदी भी एक गुजराती हैं। उनको देश का प्रधानमंत्री बनारस के लोगों ने गले लगाकर अपने रिकार्ड मतों से बनाया। इन सबके बावजूद आज उत्तर भारतीयों के साथ गुजरात में हिंसा हो रही है। सिर्फ इतना ही नहीं उन्हें वहां से भगाया भी जा रहा है। वहीं दर – दर की ठोकरें खाने पर गरीब लोग मजबूर हैं। प्रधानमंत्री को ऐसे में हमने चेतावनी पत्र के माध्यम से बताया कि अगर यह हिंसा नहीं रोकी गई तो बनारस की जनता आगामी चुनाव में आपको गुजरात वापस भेजकर ही शांत होगी। बता दे कि गुजरात के साबरकांठा जिले में एक बच्ची के साथ हुए दुष्कर्म के बाद से ही यूपी-बिहार के लोगों पर हमले सहित उनका पलायन किया जाना चल रहा है।

कांग्रेस के पूर्व विधायक ने जाहिर की चिंता

कांग्रेस के पूर्व विधायक अजय राय ने गुजरात में उत्तर भारतीय परिवारों पर हमलों एवं इससे बने भय के वातावरण पर चिंता जाहिर की है। उनके द्वारा कहा गया है कि उत्तर भारतीयों के पलायन की खबरें बेहद शर्मनाक और दुखद हैं। पूरे देश के लिए गुजरात में उभरते हालात गांधी की परंपरा के विरुद्ध चिंता का विषय है। सिर्फ इतना ही नहीं यह वहां की शासन-प्रशासन की व्यवस्था के लिए धब्बे लगने जैसा है। पूर्व विधायक ने कहा कि काशी से सांसद उत्तर भारत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चुना है। आश्चर्य की बात है कि संकीर्ण क्षेत्रवादी मानसिकता का प्रदर्शन गुजरात में किया जा रहा है। तत्काल प्रभावी ऐसी घटनाओं पर अंकुश नहीं लगने पर कांग्रेस द्वारा सत्याग्रह किया जाएगा।

Comments
Made with ♥ in Varanasi | Hosted on BlueHost
Copyright © 2018 Five Alphabets